Thursday, 27 September 2012

खूबसूरती को बढाता है अदरक


 
 
 शरद ऋतु की भीनी भीनी ठंड के मौसम में मित्रों, सुबह – सुबह अदरक की चाय मिल जाए तो पूरा दिन ताजगी भरा हो जाता है। चाय के साथ – साथ भोजन को जायकेदार बनाने वाले अदरक की दिलचस्प बात ये है कि वो खूबसूरती को भी बढाता है। अदरक को फल, सब्जी या दवा भी मान सकते हैं।

 वास्तव में अदरक भूमिगत रूपान्तरित तना है। इसका वैज्ञानिक नाम ( ज़िन्जीबर आफीसिनेल ) है।

अदरक त्वचा को निखारने व आकषर्क बनाने में मदद करता है। सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी के साथ अदरक का एक टुकङा खाने से त्वचा में निखार आता है। दवा के रूप में अदरक गठिया, आर्थराइटिस तथा साइटिका जैसे रोगो में प्रमुखता से उपयोग किया जाता है।

अदरक गर्भवती महिलाओं को मार्निग सिकनेस से निजात दिलाता है। अदरक में कोलेस्ट्राल का स्तर कम करने, एंटीफंगल तथा कैंसर प्रतिरोधी गुण भी पाया जाता है। आज अनेक शोधो ने अदरक को रामबाण का दर्जा दिया है।

फूडस् दैट फाइट पेन पुस्तक के लेखक आर्थर नील बर्नाड के मुताबित अदरक में दर्द मिटाने के प्राकृतिक गुण पाये जाते हैं। ये बिना किसी दुष्प्रभाव के दर्द निवारक की तरह काम करता है।

नाइज़ीरीया में एक शोध के अनुसार अदरक में किसी चीज को प्राकृतिक रूप से संरक्षित करने का गुण पाया जाता है। अदरक का सत्व साल्मोनेला नामक जीवाणु को समाप्त करने में मददगार होता है। पाचन की समस्या होने पर रोजाना सुबह अदरक का एक टुकङा खाने से बदहजमी नही होती है।

मित्रों, अदरक एक ऐसा नाम जो हमें आसानी से सब्जी के ठेले पर भी मिल जाता है किन्तु इसके फायदे इसे अनमोल बना देते हैं।

 

10 comments:

  1. बात सही है.
    पोस्ट अच्छी है.
    http://blogkikhabren.blogspot.com/2012/09/blog-post_28.html

    ReplyDelete
  2. वाह अदरक के विषय में बहुत ही बढ़िया एवं महत्वपूर्ण जानकारी...

    ReplyDelete
    Replies
    1. Pallavi, Thanks for appriciating my infomation.

      Delete
  3. बहुत अच्छी जानकारी....
    :-)

    ReplyDelete
  4. अनीता शर्मा जी,आपकी पोस्ट हमेशा ही अत्यंत उपयोगी सूचनाओं के साथ साथ ज्ञानवर्धक एवं प्ररेणादायक होती हैं..इतनी जानकारियां देने के लिए आपका धन्यवाद.

    ReplyDelete
  5. प्रभावशाली और सार्थक प्रस्तुति.

    ReplyDelete